(2018) Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) PDF Book Download करें || Raghav Prakash hindi grammar book

0
14199
(2018) Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) PDF Book Download करें

Hindi Grammar Notes in Hindi (हिंदी व्याकरण) PDF Download ||Raghav Prakash hindi grammar book

Hello Friends, अगर आप किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने के लिए हिन्दी व्याकरण के notes या बुक तलाश कर रहे हैं तो आप एकदम सही स्थान पर हो क्यूंकि आज हम आप सभी के लिए Hindi Vyakran PDF notes लेकर आये हैं ये notes एकदिवसीय परीक्षा की तैयारी करने के लिए बहुत ही उपयोगी notes हैं. जैसे की आप सभी जानते ही हैं की ऐसी परीक्षाओं में Hindi Grammar से बहुत से प्रश्न पूछे जाते हैं. अगर आप हमारी वेबसाइट के नये विजिटर हैं तो हम आपको बता दें कि हम यहाँ हर दिन इसी तरह का स्टडी मटेरियल लेकर आते हैं जो Competitive Exams के लिए उपयोगी होता है. अगर आप प्रतियोगी  परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो दोस्तों आप सभी इसका PDF नीचे दिए हुए बटन पर क्लिक करके आसान रूप से Download कर सकते हो.
Book Summary is given here – हिंदी व्याकरण की Complete जानकारी इस बुक में दी गई है. इस किताब तो आपके साथ शेयर करने का कारण है क्युकी बहुत से छात्रों ने इस किताब को पसन्द किया है लोकप्रिय हिंदी व्याकरण सभी प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं के लिए एक अनिवार्य गाइड है। यह एक व्यापक पुस्तक भी है जो किसी भी सामान्य परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों के लिए उपयोगी होती है। यह उन छात्रों के लिए जरूरी है जो अपने हिंदी व्याकरण और रचना को सीखना और सुधारना चाहते हैं।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

मित्रों, आज-कल व्याकरण पर बाजार में अनेक पुस्तकें उपलब्ध हैं। लेकिन फिर भी हमें इन पुस्तकों को लिखने की आवश्यकता इसलिए महसूस हुई क्योंकि जब भी कोई छात्र यह प्रश्न करता है कि वह हिन्दी व्याकरण के लिए कौन सी किताब को पढ़े तो हम उसे कोई प्रमाणित पुस्तक का नाम नहीं बता पाते। कुछ पुस्तकें है भी तो वह विद्यार्थियों की जरूरतों को ध्यान में रखकर नहीं लिखी गई हैं तथा बहुत ही विस्तार पूर्वक लिखी गई है। जिन्हें पढ़ने के बाद छात्र उब जाते है तथा व्याकरण की कोई बात समझ नहीं पाते।

व्याकरण (Grammar)की परिभाषा

व्याकरण- व्याकरण वह विद्या है जिसके द्वारा हमे किसी भाषा का शुद्ध बोलना, लिखना एवं समझना आता है। भाषा की संरचना के ये नियम सीमित होते हैं और भाषा की अभिव्यक्तियाँ असीमित। एक-एक नियम असंख्य अभिव्यक्तियों को नियंत्रित करता है। भाषा के इन नियमों को एक साथ जिस शास्त्र के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है उस शास्त्र को व्याकरण कहते हैं।


(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

वस्तुतः व्याकरण भाषा के नियमों का संकलन और विश्लेषण करता है और इन नियमों को स्थिर करता है। व्याकरण के ये नियम भाषा को मानक एवं परिनिष्ठित बनते हैं। व्याकरण स्वयं भाषा के नियम नहीं बनाता। एक भाषाभाषी समाज के लोग भाषा के जिस रूप का प्रयोग करते हैं, उसी को आधार मानकर वैयाकरण व्याकरणिक नियमों को निर्धारित करता है। अतः यह कहा जा सकता है कि- व्याकरण वह शास्त्र है, जिसके द्वारा भाषा का शुद्ध मानक रूप निर्धारित किया जाता है।

वस्तुतः व्याकरण भाषा के नियमों का संकलन और विश्लेषण करता है और इन नियमों को स्थिर करता है। व्याकरण के ये नियम भाषा को मानक एवं परिनिष्ठित बनते हैं। व्याकरण स्वयं भाषा के नियम नहीं बनाता। एक भाषाभाषी समाज के लोग भाषा के जिस रूप का प्रयोग करते हैं, उसी को आधार मानकर वैयाकरण व्याकरणिक नियमों को निर्धारित करता है। अतः यह कहा जा सकता है कि- व्याकरण वह शास्त्र है, जिसके द्वारा भाषा का शुद्ध मानक रूप निर्धारित किया जाता है।

व्याकरण के अंग :

व्याकरण हमें भाषा के बारे में जो ज्ञान कराता है उसके तीन अंग हैं- ध्वनि, शब्द और वाक्य।
व्याकरण में इन तीनों का अध्ययन निम्नलिखित शीर्षकों के अंतर्गत किया जाता है-
(1) ध्वनि-विचार (2) पद-विचार (3) वाक्य-विचार

व्याकरण के प्रकार
(1) वर्ण या अक्षर
(2) शब्द
(3)वाक्य

(1) वर्ण या अक्षर:- भाषा की उस छोटी ध्वनि (इकाई )को वर्ण कहते है जिसके टुकड़े नही किये सकते है।
जैसे -अ, ब, म, क, ल, प आदि।

(2) शब्द:- वर्णो के उस मेल को शब्द कहते है जिसका कुछ अर्थ होता है।
जैसे- कमल, राकेश, भोजन, पानी, कानपूर आदि।

(3) वाक्य:- अनेक शब्दों को मिलाकर वाक्य बनता है। ये शब्द मिलकर किसी अर्थ का ज्ञान कराते है।
जैसे- सब घूमने जाते है।
राजू सिनेमा देखता है।

संधि एवं संधि विच्छेद परिभाषा

संधि दो शब्दों से मिलकर बना है – सम् + धि। जिसका अर्थ होता है ‘मिलना ‘। हमारी हिंदी भाषा में संधि के द्वारा पुरे शब्दों को लिखने की परम्परा नहीं है। लेकिन संस्कृत में संधि के बिना कोई काम नहीं चलता। संस्कृत की व्याकरण की परम्परा बहुत पुरानी है। संस्कृत भाषा को अच्छी तरह जानने के लिए व्याकरण को पढना जरूरी है। शब्द रचना में भी संधियाँ काम करती हैं।

जब दो शब्द मिलते हैं तो पहले शब्द की अंतिम ध्वनि और दूसरे शब्द की पहली ध्वनि आपस में मिलकर जो परिवर्तन लाती हैं उसे संधि कहते हैं। अथार्त संधि किये गये शब्दों को अलग-अलग करके पहले की तरह करना ही संधि विच्छेद कहलाता है। अथार्त जब दो शब्द आपस में मिलकर कोई तीसरा शब्द बनती हैं तब जो परिवर्तन होता है , उसे संधि कहते हैं।

उदहारण :- हिमालय = हिम + आलय , सत् + आनंद =सदानंद।

संधि के प्रकार (Sandhi Ke Prakar) :
संधि तीन प्रकार की होती हैं :-

स्वर संधि
व्यंजन संधि
विसर्ग संधि

हिन्दी व्याकरण Book PDF

दोस्तों आप को इन Notes में जो कुछ भी पढ़ने को मिलेगा उन सभी Chapters/Topics की लिस्ट हमने यहाँ बना दी है. वैसे व्याकरण में जो कुछ भी महत्वपूर्ण होता है वो सभी Chapters आपको इन Notes में देखनें को मिलेंगे. दोस्तों आप सभी नीचे दिए हुए download बटन से आप आसानी से इस बुक का PDF अपने मोबाइल या कंप्यूटर में download कर सकते हो.

Hindi Grammar Book PDF हिन्दी व्याकरण

नीचे हमने उपलब्ध hindi grammar PDF Notes मे जो भी कुछ हिन्दी व्याकरण से सम्बन्धित उपलब्ध है, उसे नीचे टापिक के माध्यम से आपके लिए लिख दिया है, जिसमे अपनी जरुरत के हिसाब से उपलब्ध टापिक को पढ सकते है।
संज्ञा – Sangya in Hindi Vyakaran
सर्वनाम – Sarvnam in Hindi Vyakaran
विशेषण – Visheshan in Hindi Vyakaran
क्रिया – Kriya in Hindi Vyakaran
क्रियाविशेषण – Kriya Visheshan in Hindi Vyakaran
वाच्य – Vachya in Hindi Vyakaran
अव्यय – Avyay in Hindi Vyakaran
लिंग – Ling in Hindi Vyakaran
वचन – Vachan in Hindi Vyakaran
कारक – Kaarak in Hindi Vyakaran
काल – Kaal in Hindi Vyakaran
उपसर्ग – Upsarg in Hindi Vyakaran
प्रत्यय – Pratyay in Hindi Vyakaran
समास – Samaas in Hindi Vyakaran
संधि – Sandhi in Hindi Vyakaran
पुनरुक्ति – Punrukti in Hindi Vyakaran
शब्द विचार – Shabd Vichar in Hindi Vyakaran
पर्यायवाची शब्द – Paryayvachi Shabd Hindi Vyakaran
विपरीतार्थक शब्द – Vilom Shabd in Hindi Vyakaran
अनेक शब्दों के लिए एक शब्द – Anek Shabdon Ke Liye Ek Shabd
हिंदी कहावतें – (Hindi Kahawat)
हिंदी मुहावरे – Hindi Muhavare
अलंकार – Alangkar in Hindi Vyakaran
छंद – Chhand in Hindi Vyakaran
रस – Ras in Hindi Vyakaran

Download –   Lucent’s सामान्य हिंदी Grammar PDF Book Download करें

ऐसी परिस्थिति में छात्रों के लिए ऐसी पुस्तक की नितान्त आवष्यकता थी जिसकी भाषा सरल, विवेचन स्पश्ट और विषय का प्रतिपादन संक्षिप्त रूप में किया गया हो। Vyakaran की कुछ ऐसी ही books का संग्रह आपको डाउनलोड करने के लिए दिया जा रहा हैं। इन्हें पढ़ने के लिए नीचे दिये गये लिंकों पर क्ल्कि करके download करें-

हिंदी व्याकरण (Hindi Vyakaran Book)

व्याकरण- व्याकरण वह विद्या है जिसके द्वारा हमे किसी भाषा का शुद्ध बोलना, लिखना एवं समझना आता है।

भाषा की संरचना के ये नियम सीमित होते हैं और भाषा की अभिव्यक्तियाँ असीमित। एक-एक नियम असंख्य अभिव्यक्तियों को नियंत्रित करता है। भाषा के इन नियमों को एक साथ जिस शास्त्र के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है उस शास्त्र को व्याकरण कहते हैं।

वस्तुतः व्याकरण भाषा के नियमों का संकलन और विश्लेषण करता है और इन नियमों को स्थिर करता है। व्याकरण के ये नियम भाषा को मानक एवं परिनिष्ठित बनते हैं। व्याकरण स्वयं भाषा के नियम नहीं बनाता। एक भाषाभाषी समाज के लोग भाषा के जिस रूप का प्रयोग करते हैं, उसी को आधार मानकर वैयाकरण व्याकरणिक नियमों को निर्धारित करता है। अतः यह कहा जा सकता है कि-

व्याकरण वह शास्त्र है, जिसके द्वारा भाषा का शुद्ध मानक रूप निर्धारित किया जाता है।

व्याकरण के प्रकार

(1) वर्ण या अक्षर
(2) शब्द
(3)वाक्य

व्याकरण के अंग :

व्याकरण हमें भाषा के बारे में जो ज्ञान कराता है उसके तीन अंग हैं- ध्वनि, शब्द और वाक्य।  व्याकरण में इन तीनों का अध्ययन निम्नलिखित शीर्षकों के अंतर्गत किया जाता है-

  • ध्वनि-विचार
  • पद-विचार
  • वाक्य-विचार
  • वर्ण
  • स्वर
  • व्यंजन
  • संज्ञा
  • वचन
  • कारक
  • सर्वनाम
  • विशेषण
  • क्रिया
  • काल
  • वाच्य
  • वाक्य
  • उपसर्ग
  • प्रत्यय
  • संधि
  • समास
  • अलंकार
  • शब्द
  • शब्द भेद
  • रचना के आधार पर
  • अर्थ के आधार पर
  • उत्तपत्ति के आधार पर
  • तत्सम एवं तद्भव
  • देशज शब्द
  • विदेशज शब्द
  • रुपान्तर के आधार पर
  • शब्दो मे अर्थ का बोध कराने वाली शक्तियॉ
  • अभ्यास प्रश्न
Book Name
हिंदी व्याकरण
Quality
Excellent
Format
PDF
Size
7 MB
Author
Harish Academy
Pages
47 Page
Language
Hindi हिन्दी

Download Hindi Vyakaran PDF In Hindi | (2018) Hindi Grammar (हिन्दी व्याकरण) PDF Book Download करें Raghav Prakash hindi grammar book

arihant gk book in hindi pdf download, arihant gk book pdf in hindi arihant hindi grammar book pdf arihant samanya gyan hindi pdf best hindi grammar book for competitive exams class 10 hindi grammar syllabus dr raghav prakash hindi book pdf general hindi book for competitive exam pdf general hindi book for upsc pdf general hindi by raghav prakash pdf hindi Hindi Grammar Book Hindi Grammar Book Download Hindi Grammar Book Download PDF Hindi Grammar Book Download PDF {हिंदी व्याकरण बुक} Free में Hindi Grammar Book Download PDF{हिंदी व्याकरण बुक} Free में hindi grammar book for class 10 pdf free download hindi grammar class 10 pdf download hindi grammar notes pdf download hindi grammar pdf class 10 hindi vyakaran book free download pdf hindi vyakaran ncert pdf hindi vyakaran notes for competitive exam hindi vyakaran pdf hindi vyakaran pdf mp lucent general hindi pdf lucent hindi book lucent hindi grammar book pdf lucent hindi grammar pdf free download lucent hindi pdf free download lucent hindi vyakaran book pdf download lucent’s samanya gyan in hindi pdf free download lucent’s samanya hindi book pdf free download lucent’s sampurna hindi vyakaran aur rachna pdf free download manak hindi vyakaran class 10 pdf ncert hindi grammar book ncert hindi grammar book class 9 pdf raghav prakash hindi book online raghav prakash hindi book pdf free download raghav prakash hindi book price raghav prakash hindi grammar book pdf download raghav prakash hindi grammar book pdf free download raghav prakash hindi pdf raghav prakash samanya hindi book pdf raghav prakash samanya hindi book pdf download raghav prakash samanya hindi book pdf free download raghav prakash samanya hindi pdf download samanya hindi book pdf saraswati hindi vyakaran class 10 pdf saraswati hindi vyakaran class 10 pdf download saraswati hindi vyakaran class 10 solutions

Note – यह अंग्रेजी बोलने वाले देश में बढ़ रहे बच्चे के लिए हिंदी मजेदार सीखता है। इस पुस्तक का ध्यान पहेलियों, गतिविधियों और खेलों की एक श्रृंखला के माध्यम से हिंदी व्याकरण की मूल बातें पढ़ाने पर है। लक्ष्य, श्रृंखला की अन्य दो गतिविधि पुस्तकों में, दिलचस्प गतिविधियों के माध्यम से बुनियादी अवधारणाओं को सीखना है। इस पुस्तक में अभ्यास का उपयोग करके खुद को हिंदी व्याकरण सिखाएं। व्याकरण वास्तव में एक दिलचस्प विषय हो सकता है। Notes को Download करने के लिए नीचे दिए गए Download Button को दबाये.

Contents:
Bhasha; Varn Vichaar; Shabd Vichaar; Sangya; Upsarg aur Pratyya; Ling; Vachan; Karak; Sarvnaam; Visheshan; Kriya; Vachya; Kaal; Avvya; Sandhi; Samas; Vakya; Viraam Chinha; Anek Shabdo ke liye ek Shabd; Vipreetharthak Shabd; Shrutisum Bhinnarthak Shabd; Paryaayvachi Shabd; Ekarthak Shabd; Anekarthak Shabd; Sankshepan; Muhaavra; Kahavatein athva Lokoktiyaan; Vartani-Sambandhi Ashudhiyaan; Vakya-Sambandhi Ashudhiyaan; Patrachaar; Alankaar; Pallavan ya Bhaav-Vistaar; Hindi Anuvaad; Chhand; Aadhunik Bhashayein; Hindi Sahitya ki Pramukh Pravartiyaan evam Visheshtaayein; Hindi Sahitya ki Nai Vidhaayein; Prasidh Rachnayein evam Rachnakaar; Prasiddh Bharatiya Kavi, Lekhak evam Bhashayein.

Tags:- hindi grammar book pdf, arihant hindi grammar book pdf, ncert hindi grammar book pdf, lucent hindi grammar book pdf, raghav prakash hindi grammar book pdf, download raghav prakash hindi grammar book pdf free download, hindi grammar pdf, class 10 hindi vyakaran pdf, mp hindi vyakaran notes for competitive exam, Raghav Prakash hindi grammar book

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here